Payam-E-Amn Shayari

Ek Shayari Aman Ke Liye…

Two of my favourite Love Shayari in Hindi

love shayari in hindi

दिल करता है

तुझसे लिपट कर रोने को दिल करता है,
तेरी गोद में सिर रखकर सोने को दिल करता है,
तुझको बाहों में भरने को दिल करता है,
तेरी मोहब्बत में इस कदर डूब गए हैं –
की तेरी आँखों की गहराईयों में खोने को दिल करता है।

तेरी आँखों के रास्ते तेरे दिल में समां गए,
तेरे होंठों को चूमकर तुझे अपना बना गए,
तेरे जिस्म को चूमकर तेरी रूह तक छू गए,
इस कदर तुझसे प्यार हो गया –
की तेरी साँसों की खुशबु में हम खो गए।

एक तेरे साथ के लिए ज़माने का साथ छोड़ दूँ,
एक तेरे प्यार के लिए हर रिश्ते को तोड़ दूँ,
ऐ जान जो तेरा साथ ना मिल पाए,
मैं खुदा से भी अपना मुँह मोड़ लूँ।

New Love Shayari in Hindi written by Mukesh Rana

सोचता हूँ

सोचता हूँ कैसे तुझे रोक लूँ,
सोचता हूँ कैसे तुझे सिर्फ अपना बना लूँ,
सोचता हूँ कैसे तुझे इस दुनिया से चुरा लूँ,
ऐ जान सोचता हूँ कैसे तुझे हमेशा हमेशा के लिए अपनी बाहों में भर लूँ।

ना जा इतनी दूर की मेरी आवाज़ भी भी तू सुन ना पाए,
ना भुला मुझे इस कदर की तेरी यादों में भी हम आ न पायें,
ना रुला इस कदर की चाह कर भी हम मुस्कुरा ना पायें,
ऐ जान ना कर इतना प्यार की तेरे बिना हम जी भी ना सकें और मर भी न पाएं।

सोचता हूँ कैसे तेरे बिना जीना सीखूं,
कैसे तेरी यादों को अपने जीने का सहारा बना लूँ,
ऐ जान तेरे बिना शायद जी तो फिर भी लूँ,
पर कैसे तेरी बाहों के बिना मौत की गॉड मैं सोऊँ।

ऐ जान तेरे बिना जी भी लूँ पर मर नहीं सकता,
तेरी जुदाई के आंसू रोक भी लूँ पर मुस्करा नहीं सकता,
ऐ जान चाहे तेरे दिए हुए दर्द से मैं हार मान भी जाऊँ,
पर तेरे दीदार के बिना अपनी आँखें बंद कर नहीं सकता।

Hindi Dard Bhari Shayari Dilo Se Khelna…

hindi dard bhari shayari featured image

पता नहीं दिलों से खेलना शौक है उनकी या आदत,
पता नहीं दिलों को तोड़ना मज़बूरी है उनकी या फिदरत।
जो भी हो हमारा दिल तोड़ने को तो नहीं दिया था,
हमने उन्हें अपना दिल खेलने को तो नहीं दिया था।

पर उन्हें क्या जो करना था आकर दिया,
हमें उम्र भर रोने को तनहा छोड़ दिया।
जब भी कोशिश करता हूँ उसे भूलने की नाकामी ही हाथ लगती है,
जितनी कोशिश करता हूँ उसे दिल से निकालने की उतना ही उसकी याद सताती है।

क्या करूँ कुछ समझ नहीं आता,
रोना चाहता हूँ पर रो नहीं पता,
हंसना तो भूल ही गए है, अब तो मुस्कुराना भी नहीं आता।
चाह कर भी मैं उसे भूल नहीं पाटा,
वो नहीं समझती मेरे प्यार को जानता हूँ मैं,
फिर भी जाने क्यों अपने दिल को मैं समझा नहीं पता।

Hindi Sad Shayari, दिल तोड़ दिया

hindi sad shayari by payameaman website

पल भर में ठोकर मार कर दिल को तोड़ दिया,
और फिर – टूटे हुए दिल को देखकर उन्होंने मुस्कुरा दिया।
आंसू तो बहाना चाहते थे, पर दिल की गेहेराई में उनको छुपा लिया।
हंस तो नहीं पा रहे थे हम, पर उनकी हंसी के साथ हमने मुस्कुरा दिया।

टूटे हुए दिल को जोड़ने की कोशिश तो की, पर हर टुकड़ा बिखरा हुआ था।
सोचा की समेट दूँ, पर हर टुकड़ा उनके पास जा चूका था।
कम्बख्त को बहुत समझाया उन्हें कदर नहीं हैं तुम्हारी,
पर इस दिल को समझ ना आयी एक भी हमारी।

हमारे दिल ने उनके बदलने को बहुत समझाया,
उनके दिल की भी कोई मज़बूरी थी, हमारे दिल का कहा उसे समझ न आया।
जो भी हो दिल तो हमारा टूट ही गया,
बहुत कोशिश की पर वह फिर जुड़ ना पाया।

हर टुकड़ा रह गया तन्हाइयों के साथ,
हर टुकड़ा रह गया उनकी यादों के साथ,
हमने अपना जीवन बिता दिया उनके प्यार के इंतज़ार के साथ।

रूहानी दिल शायरी, क्यों किसी पर मरता है दिल

ruhani dil shayari

क्यों किसी पर मरता है दिल,
क्यों किसी के लिए तड़पता है दिल,
मिला नहीं है इस बार मोहब्बत पर मेरी,
फिर भी देश – क्यों उसको पाने की हसरत रखता है दिल।

क्यों किसी के आंसू ले लेना चाहता है दिल,
क्यों किसी को अपनी खुशियां देना चाहता है दिल,
नहीं है उसकी मुस्कुराहट मेरे लिए,
फिर भी – क्यों उसकी मुस्कुराहट में सुकून खोजता है दिल।

किसी के गम को देख कर रोता है दिल,
क्यों किसी की हर चाहत पूरी करना चाहता है दिल,
नहीं है उसे जरूरत मेरी फिर भी,
क्यों उसका साथ उम्र भर देना चाहता है दिल।

amn ke paigam ki pehli shayari peshkash

॥अमन के पैगाम की पहली शायरी॥

उनतालीस साल पहेले लड़ी आज़ादी की लड़ाई याद आती है,
नफ़रत की आग मे झुलसी गलियों की सूनता याद आती है,
उन्हें दिल्ली की गली नमंबर ६, और हमे लाहौर की सर्दियाँ याद आती है।

छोड़ देते हैं लोग जीना बस एक उम्र के बाद
मगर ये ज़िन्दगी जीना नहीं छोड़ा करती
बनाये रखती है रिश्ता हर एक साँस के साथ
इतनी आसानी से रिश्ता नहीं तोड़ा करती।

बेवजह के जुनून में ये खोई ज़िन्दगी
एक आह सी सुनी तो लगा रोई ज़िन्दगी
दुआओं में उठते हैं हमेशा ये मेरे हाथ
नाकाम और बरबाद न हो कोई ज़िन्दगी।

कोशिश को हमारी बस एक इशारा चाहिए
हम चल पड़े हैं थोड़ा सा सहारा चाहिए
यूँ तो बहुत तूफ़ानों के आसार है आगे
कोशिश की इस कश्ती को किनारा चाहिए।

दिल को ख़ुशियाँ दिये एक ज़माना हुआ
ज़िन्दगी को जिये एक ज़माना हुआ
नाज़ नख़रे अब अपने उठा लूँ ज़रा
इश्क़ ख़ुद से किये एक ज़माना हुआ।

Powered by WordPress & Theme by Anders Norén